शिकस्त – एक चुदाई कहानी पार्ट – 1

दोस्तों, राज शर्मा एक बार फिर हाज़िर है अपनी नई कहानी ले के. थोड़ी लंबी हो गयी है, पर इतमीनान से पूरी पढ़े. तब ही उसका सही स्वाद मिलेगा.

अनुपमा मेरे साथ पढ़ती थी. वो तब बहोट ही खूबसूरत हुआ करती थी. उसने कभी हिस्सा नही लिया, नही तो ब्यूटी क्वीन हो सकती थी. लेकिन उसकी पढ़ाई पूरी नही हो पाई थी. इस के लिए उसका साथ छूट गया था. कई साल बाद मुझे वो रास्ते मे मिल गई. पहले जैसा नूवर नही था. उसकी तबीयत ठीक नही लग रही थी. मैं उसे घर ले गया. वहाँ उसने मुझे जो कहानी बताई उसे मैं अनु की ज़ुबानी पेश कर रहा हू
मैं अनुपमा हू. अभी अभी 24 साल की हुई हू. दस साल पहले मेरी मया का देहांत हो गया. उसके डेढ़ साल बाद पिताजी ने दूसरी शादी कर ली. नई मया ने कुच्छ ही समय मे अपना रंग दिखाया और ढाई साल मे तो मुझे घर छ्चोड़’ने पर मजबूर कर दिया. उस वक्त मैं करीब 18 साल की थी. मुझे पढ़ाई भी छ्चोड़नी पड़ी. मैने वो शहर ही छ्चोड़ दिया.

मैं मुंबई आ गयी. नौकरी की तलाश शुरू की. जहाँ भी गयी, मुझे नौकरी तो टुरट ही ऑफर होती थी, लेकिन वो मेरी खूबसूरती का जादू था. कोई कोई तो पहले ही बेझिझक हो कर प्रपोज़ल रखता था, तो कोई इशारों मे समझाने की कोशिश करता था. लेकिन मतलब एक ही था, मुझे जॉब दे कर वो मेरे रूप को भोगना चाहते थे. ऐसी करीब बीस ऑफर मिले. मैने वो सारी ऑफर ठुकरा दी.

एक जगह जहाँ ऐसी बात नही हुई, तो मैने वो जॉब टुरट ले ली. लेकिन एक ही वीक मे वोही अनुभव हुआ. मैने वो भी छ्चोड़ दिया. एक और मिली तो वहाँ भी बीस दिन ठीक जाने के बाद वही बात हुई. मैने वो भी छ्चोड़ दिया, लेकिन अब मैं दर गयी थी. जान चुकी थी की मेरा ही रूप मेरा बैरी बन चुका है. लोगो पर से और ईश्वर पर से विश्वास उठता जेया रहा था. मान ही मान सोच’ने लगी की शायद यही इस दुनिया का दस्तूर हो. इसे स्वीकार कर’ने के ख़याल भी मान में आने लगे.

यह कहानी भी पड़े  पड़ोस की दीदी की चूत चुदाई का खेल

लेकिन तब मेरी किस्मत बदलने वाली थी. इत्तेफ़ाक़ से मैं एक ऑफीस मे जेया पहुँची. बड़ी साफ सुथरी ऑफीस थी. मेरा इंटरव्यू खुद बड़े सेठ ने लिया. राजन नाम था उनका. एकदम साफ इंटरव्यू रहा. मेरे रूप की और तो जैसे नज़र ही नही थी. मैं पास हो गयी और मुझे वो जॉब मिल गयी. सॅलरी भी मेरी ख्वाहिश से दुगनी थी. यहाँ कोई आल्टू फालतू बात नही होती थी. बस काम से काम रहता था. मैं राजन सिर की प.आ. थी.

वो करीब 45 की उमरा के थे. उनके तीन बेटे थे, मझला मेरी उमरा का था. सभी भाइयों मे 2 साल का अंतर था. वी पढ़ते थे लेकिन कभी कभी ऑफीस आ जया करते थे किसी काम से. मैं उन सब से परिचित हो गयी थी. राजन सिर की पत्नी पिच्छाले एक साल से बीमार रहा करती थी. उसे ले कर राजन सिर चिंतित भी रहते थे. कभी कभी मेरे पास भी वी अपनी चिंता व्यक्त करते थे. उनकी पत्नी के बच’ने के चान्स कम थे. मुझे राजन सिर से हमदर्दी होने लगी थी और शायद……. प्यार भी. कच्ची उमरा का पक्का प्यार……. आख़िर जीवन मे पहली बार कोई ऐसा आदमी मिला था जो संपूर्णा था, श्रीमंत था, स्वरूपवान था, शिक्षित था, अच्च्चे शरीर सौस्ठव का और बहुत ही अच्च्चे व्यव’हार वाला था. यूँ कह सकती हूँ, चुंबकिया व्यक्तित्वा था उनका. वक्त गुजरता जेया रहा था. यूँ ही चार महीने बीत गये. एक रोज़ शनिवार के दिन दोपहर को वो बोले,

“अनु चलो” ( अब वो मेरा पूरा नाम अनुपमा नही कहते थे, अनु से बुलाते थे). मैने पुचछा,

यह कहानी भी पड़े  बहन की चुदाई की अधूरी वासना

“कहाँ ?” वो कड़क टोने मे बोल उठे,

“चलो भी” और खुद चल दिए. मैं भी साथ हो गयी. नीचे आ कर वो अपनी नई होंडा क्र्व मे बैठे. मेरे लिए बाजुवाला दरवाज़ा खोल दिया. मैं भी बाजू मे बैठ गयी. पुचचाने की हिम्मत ही नही हुई कहाँ जेया रहे है. कार चल पड़ी और थोड़ी देर मे हम शहर से बाहर आ गये. वो गुमसूँ थे. मैं भी कुच्छ बोली नही. गाड़ी पहाड़ो मे होती हुई खंडाला जेया पहुँची और ‘डूक्स’ रिट्रीट मे एंट्री ली. बड़ी शानदार जगह थी. उन्हों ने एक सूट ऑफीस से फोन कर के बुक किया हुआ था. यहाँ उन्हे सब जानते थे. काउंटर पर रिसेप्षनिस्ट ने मुस्कराते हुए कहा,

“युवर सूट इस चिल्ड, सिर, आंड मिनी फ्रीज़ इस फुल वित स्टॉक”. उसने रूम की की दे दी, राजन सिर ने कार की की वहाँ दे दी और हम अंदर चले गये. सूट आलीशान था और एकदम ठंडा भी. एर-कंडीशनर पहले से ही ओं था. रूम बॉय आ कर कार मे से राजन सिर की छ्होटी सी बाग ला कर रख गया और कार की चाबी छ्चोड़ गया. अंदर पहुँच के उन्होने कोट उतार फैंका और नेक्टिये ढीली करते हुए सोफे मे जेया गिरे, जुटे उतरे और पावं लंबा कर के सेंटर टिपोय पर रखते हुए बोले

Pages: 1 2 3 4

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!

Online porn video at mobile phone


शिश्न मुंड को फुलानाsex stories haramiyo sewww.vargin porn vilage haryanaराज शर्मा कामुक कथा incest माँसेक्स स्टोरी भाभी ने कहा जोर से पेलो मेरे राजाpuna anty marathi cheating sexgandchudai.rajsharma.comchdai story mausi ki gaand pelaaअन्तर्वासना लिपस्टिक स्टोरी नईविधवा कामबाली की चुदाई विडियोलडकि कि चुढाई कि फोटोsamdhan ki samuhik gand chudaiDAwar babavi saxy hindi adeosavita bhabi ke gand marvane ke khani xxx bhosi me se Gundo se lagatar chudai ki kahaniचुत picsex story chut ke liye zut bolaबीवी चुदे तो एसे कहानियाँ bhoot hot sexxxxx jbrdstpapa ne Sadi ki sexy Kahani rajsharma.comमाँ बहन को छोडा पापै ल दोस्तindansexbhaiआआआआहह।antarvasna बुरखाsafar me chudi ke Hindi khaneहिन्दी जोर दार चुदाई कि कहानीantervasna moosii khet mShelia baap ki patani BNI chudaiचाची का गैंगबैंग चुदाई storieMama bhanji antervasnaमुस्लिम बहन की सेक्स कहानियांनैन्सी मैडम की चुदाई कहानीदीदी की मदमस्त गांडdaru pila kar bahen ki chudai kahani with phootoअपने दोस्त की माँ को चोदारंडी बनानेकी कहानीantarvasna bua Hindixxx villej ke kheto me photoफोजन चाची बेटे हिंदी सेक्स स्टोरीRahman chacha ka mota landअनजान आंटी के साथ मजाantarvsana.com nita roma sani groupबीवी चुदे तो एसे कहानियाँ vinaya ki cuadiबुर सूज ठीक से चल कसी रगड़मेने माँ के साथ xxx पिलम देखाanjarwasna com maa bhabhi bahan bowa chachi mamiभौजाई किवाड़ बंद नंगा चूतबहन को ब्रा खरीदा सेक्स कहानीकविता की चुड़ै शर्ट मेंchorni ki hindi sex khaniyaChaddi sunghne ki kahanichhotibahankichudaiSalma antarvasnaपुचची चुदाई कहानिया मामीचुतप मारते विडयोgaidanchoi.xxसेक्सी दीदी की मदद से बुआ को चोदापति ने जेठ से चुदवा दियाwww.mami ki chut dekh muth marta tha xxx sex storyसाड़ी उठा कर चुड़ै सेक्स स्टोरीजपापा का तगड़ा लोडा sax storiesमाँ और बुआ को एक साथ बेटे ने छोड़ा घर परpati gaya office tho beta naga kar chodtaशहरी भाभी की चुदाई कथारखेलचूदाईAdmi aurat ki ghamasan chudaiबडी मम्मी की चुदाई चिल्लाईबचपन में मा की खेत मे चूदाई की hindi.gndi.saxxy.eistori.maa.didi.मो सी की चूतSAXEKIANIAsabana ki kamuk chudai ki kahaniचाची ने नौकर से चोदवाया बुर कहानीBehan ki chudai raat me sotey hue nada kholkarsexy story posan wale anty