ससुर बहू का मिलन-3

बाबूलाल ने सोचा की कमला देवी को प्रणाम करता चले, सो वो मेहमान कच्छ की तरफ जाने लगा. पास में गया तो उसने देखा की मुनिया उनके कमरे में झाँक रही है. चूँकि वह मुनिया के पीछे से आ रहा था, वह देख नहीं पाया की मुनिया का हाथ घाघरे के अन्दर क्या कर रहा है. कमरे के अन्दर की आवाजें सुन कर वो समझ गया की मुनिया क्या देख रही है. बाबूलाल की नज़र कई दिनों से मुनिया पर थी. वह बिना कोई आवाज किया मुनिया के पीछे जा के खड़ा हो गया और पंजों के बल उचक कर खड़े हो कर उसने अन्दर कमरे का नज़ारा लिया. उसे लगा की मुनिया कई महीनों से अपने पति के बिना रह रही है, अन्दर का दृश्य देख कर वो गरम हो गयी होगी. लोहा गरम है, तो क्यों न हथोडा मारा जाए. इसी समय बाबूलाल ने ध्यान दिया की मुनिया अपनी चूत रगड़ रही है.

बाबूलाल मन ही मन मुस्करा रहा था की इतने दिनों से जो मौका वो चाहता था वो ऊपर वाले ने इतनी आसानी से दे दिया. उसने पीछे से आ कर अपने हाथ मुनिया के मस्त उरोजोा (चुचियों) पर रख दिए. मुनिया एक दम से चौंक कर हटी. उसने अपना हाथ अपने घाघरे से इतनी तेजी से निकाल की घाघरे का नाडा टूट गया और घाघरा खुल कर कमर से खिसक कर उसकी चिकनी जाँघों से फिसलते हुए जमीन पर जा गिरा. मुनिया ने भागने की कोशिश की पर बाबूलाल ने फुर्ती से उसका हाथ पकड़ लिया.

बाबूलाल फुफुसाया, “देख मुनिया, अगर मैंने मालिक को बता दिया की तू उन्हें कैसे देख रही थी, सो उसी वक़्त तेरी नौकरी ख़तम. बाकी मुझे देख कर ही तेरा घाघरा गिर गया और तू नंगी मेरे सामने खडी है. इसे ऊपर वाले की मर्ज़ी समझ.”

यह कहानी भी पड़े  माँ का भोसड़ा और दादी की गांड चोदी

“मुझे जाने दो…मुझे छोड़ दो…” मुनिया ने गुहार लगाई.

पर मन ही मन शायद मुनिया आज चुदवाना चाह रही थी. संतोष उसका पति तो था. पर अब वो मुनिया में कोई रूचि नहीं दिखाता था. उसे उसकी सहेली ने बताया था की मिल के मजदूर जब इतने लम्बे टाइम तक शहर में रहते हैं, तो अपना कुछ इन्स्तेजाम वहां का भी देख लेते हैं.

बाबूलाल मुनिया का हाथ अभी भी पकडे हुए था. उसे पता था की अब अगर इसे छोड़ा तो वो भा जायेगी और बाद में मालिक से शिकायत करेगी. उसकी खुद की नौकरी जायेगी और समाज में बदनामी अलग से होगी. मुनिया का जो हाथ पकड़ रखा था, उसने उसकी उँगलियाँ चाटनी शुरू कर दीं. उँगलियों से मुनिया की चूत की महक आ रही थी. उँगलियों पर लगे चूत के रस से बाबूलाल को ये अंदाजा हो गया की मुनिया की चूत गीली हो चुकी है. मतलब मुनिया मूड में थी. उसने मुनिया को खींच कर उसका चुम्मा ले लिया. उसके हाथ मुनिया के सारे बदन पर रेंग रहे थे. इससे मुनिया और भी गरम हो गयी.

मुनिया को अब थोडा थोडा मज़ा आ रहा था. उसने मुनिया को खिडकी के पास खड़ा किया ताकि वो अन्दर का खेल देखना फिर से चालू कर सके. मुनिया इस समय कमर के नीचे से पूरी नंगी थी. बाबूलाल नीचे फर्श पर मुनिया की टांगों के नीचे बैठ गया और मुनिया की जवान चूत चाटने लगा. मुनिया ने थोड़े देर पहले मालिक को ये काम करते हुए देखा था. उसे सोचा भी नहीं था की ५ मिनट के अन्दर उसे भी उसी तरह से अपनी चूत चटवाने का सौभाग्य मिलेगा जैसा की कमला देवी को मिला है. उसके पति ने चूत को कभी नहीं चाटा क्योंकी वो इसे निहायती गन्दा समझता था.

मुनिया जोर से सिसकारी भरना चाहती थी पर वो कोई आवाज निकाल कर ये खेल समय से पहले ख़तम नहीं करना चाहती थी.

यह कहानी भी पड़े  मेरी सेक्सी कजन्स की हॉट चुदाई

अन्दर कमरे में शमशेर कमला के बदन से उतर गया. कमला अपने घुटनों के बल आ गयी. शमशेर ने पीछे सी आया. उसका लंड कमला के मुंह में रहने की वज़ह से गीला था. शमशेर ने गप से उसे कमला की मोटी चूत में पेल दिया. कमला को ऐसे गपागप वाली पेलाई पसंद है.

“पेलो शमशेर भाई….मजा आ रहा है….आपकी अपनी बहन की चूत है….कुतिया बना के चोदो…..”

कमरे के बाहर बाबूलाल की बुर चटाई से मुनिया की बुर गीली हो चुकी थी. बाबूलाल उठा और नौ इंची लंड को मुनिया की बुर के मुहाने पे टिकाया. जब उसने अपना सुपाडा अन्दर पेला, मुनिया की बुर ख़ुशी से खिल उठी. वह कई महीनों ने चुदी नहीं थी. बाबूलाल ने दो तीन धक्कों में पूरा का पूरा लौंडा पेल दिया. बाबूलाल का लौंडा नौ इंच का था और मोटा भी था. और इतने लम्बे लंड को अपनी बुर में लेना साधारण औरतों के बस की बात नहीं हटी. मुनिया तो अभी 22 साल की थी जो संतोष के चार इंची की लंड से चुद रही थी. जैसे लंड पूरा अन्दर हुआ, मुनिया की चीख ही निकल गयी. ये तो अच्छा हुआ की बाबूलाल ने पहले से ही उसके मुंह पर हाथ रख दिए थे नहीं तो मालिक के चोदन कार्यक्रम में व्यवधान पक्का हो जाता. थोड़े देर तक बाबूलाल अपना लंड मुनिया की बुर में पेले शांत खड़ा था. इससे मुनिया की बुर की मांस पेशियों को थोडा फैलने का समय मिला.

Pages: 1 2 3 4 5 6 7

error: Content is protected !!


Desi aunty ki braantarvasnaमैं दीवानी चुदाईकमला माँ की चुदाइ Rajsharmaशिला आंटी की चुदाईममी पापा कि समुहिक चुदाइgandchudai.rajsharma.comma bate kisecy kshanirajsharma maa. beta sesstoriesbiwi chudi builder se in hindi sex kahaniyaantarvasna दीदी की sopingbete ke dost se chudaisexyhindistoryमाँ और फूफा जी हिंदी सेक्स स्टोरीdidi sil todi gharmeटेरेन मे चुदाई कि 18 साल के युवाओ की कहानियाmummy ne mere chut chode dildo sy lesbeyn sex kahaneमई ने अंधे छुडवाईchdai story mausi ki gaand pelaaameena ke chutBhan ke bobo me land lgayanate bakt bhena ke codae story hinde mesasur ka bahu sexy bra ka gift ki kahanichdai story mausi ki gaand pelaachachera bhai chacheri bahen ka seal toda sex storyचीकनी.चूत.की.चूदाई.बूलूफिलमगांड मारने की कहानियामा कि चुदाई लम्बी सेक्सी कहानीया राज शर्माmaa khud bani randi beta ka pisa chukane ke liye xxx sex storyशेरनी की चूदाईधार्मिक मा का गदराया बदनभाभी ने अपनी ननद नगा करके चुदाई पान फिल्मपपानी ममी पुची झवली चाचा का लडँ माँ हीलीकामुक बहू की मस्त रसदार गांड की सामूहिक चुदाई कहानियाँस्टेशन पर चुदाईलड़की चुतvidhwa bahen ke sath suhagrat mana ke sil todi sexstory.comdidi gaav ki randi kahaniindiya he indiya porn hd hindi galiwlaxxx sex story adla badli with sanskari in partsSex kahaniya/बर्थडे गिफ्टमेरी बहन सबकी रंडी बनीहिंदी सैक्स स्टोरी मा ने मेरे लोडे की मालिश कीनँगी करके चोदते गुरुप मे कथाsasur ke land ki chahatsat land ak chut kikahaniचुतSali or uski saheli ko choda Hindi sex storiesxxx bur bajaya vidoes com.sali ki chudayi by rajsharma Tushan vali didi ki jabrdsti x storiबुआ चुद माराई रातporn panjabigalis sex chut imagesHindisex antarvasana2.comkunwari.bhahan.ki.bahli.chudaihabshi lauda hindiमेरी बहन मेरे साथ सो रही थी मैंने उसके बूब दबाये सेक्स स्टोरी हिंदीमाँ ने मौसी को मुझसे चूदाईantarvasna bap betirekha sexbabanetgudda guddi ka sexy khel hindi storyबारिस मे चुडाई की XXXकहानियाholi me gangbang chudai sex storieshindiburstoreyठाकुर साहब से चुदाईsezstorymomदामाद से शादी करके गांड फड़वाईmaa ko gunday ne choda mere samnebhaiya ko jhalak dikhai incestSamdhi ke sath chudai Hindi kahania