पत्नी के आदेश पर सासू माँ को दी यौन संतुष्टि-2

रात बहुत हो गई थी इसलिए मैं सासू माँ और रूचि को शयनकक्ष में सोने के लिए छोड़ कर बैठक में रखे दीवान पर सोने चला गया।

सुबह उठ कर रोजाना की दिनचर्या के अनुसार मैं और रूचि तैयार हो कर अपने अपने काम पर चले गए और शाम को देर से घर लौटे।

उस शाम और रात सब समान्य रहा और सासू माँ ने भी कोई ऐसी बात या हरकत नहीं करी।

रात को जब मैं और रूचि सम्भोग करने के बाद अपने को साफ़ करके एक दूसरे के बाहुपाश में लेटे हुए थे तब रूचि ने सासू माँ की दयनीय स्थिति की बात उठाते हुए कहा– राघव, हमारे माता पिता हमारी परवरिश के लिए अपना सब कुछ न्यौछावर कर देते हैं। हमारी ख़ुशी और सुख के लिए वे सब कुछ करते हैं जिसके लिए उन्हें कितने भी दुख उठाने पड़ते हैं।

बिना रुके आगे बोलते हुए उसने कहा– वह कई बार खुद नहीं खाकर हमें अवश्य ही खिलाते हैं, खुद नया कपड़ा नहीं पहन कर भी हमारे लिए नए कपड़े अवश्य ही लाते हैं तथा कई बार स्थान की कमी होने पर हमारे सोने की वयवस्था करते हैं और खुद जाग कर रात बिताते हैं। हमें खुश देख कर वे खुश तो होते है लेकिन हमें दुखी देख कर वे अपना दुख भूल कर हमें खुश करने के लिए एड़ी चोटी का जोर लगा देते हैं।

रूचि की बात सुन कर मैंने कहा– रूचि, तुम जो कह रही हो, वह बिल्कुल सही है इसलिए इतना बड़ा व्याखान मत दो। तुम्हें जो कहना है उसे संक्षिप्त में कह दो।

तब रूचि ने कहा– मैं अपनी मम्मी से बहुत ही प्यार करती हूँ और मुझसे उनकी ऐसी दयनीय स्थिति देखी नहीं जाती है। जैसे मेरी ख़ुशी के लिए उन्होंने बहुत दुख सहा है और बहुत त्याग किये हैं तो क्या हम उनके सुख और ख़ुशी के लिए कुछ दुख सहते हुए कोई त्याग नहीं कर सकते?

यह कहानी भी पड़े  छोटे भाई ने कुंवारी चूत की सील तोड़ी

मैंने उत्तर में कहा– रूचि, मैं तुम्हारी बात से सहमत हूँ कि हमें भी अपने माता पिता के सुख और ख़ुशी के लिए कुछ तो करना चाहिए। तुमने उनसे बात की है और उनके दुख को दूर करने के लिए वे क्या चाहती हैं, जानती हो। इसलिए तुम्ही बताओ कि हम उनके लिए ऐसा क्या कर सकते है कि उन्हें भरपूर सुख और ख़ुशी मिले?

मेरे उत्तर को सुन कर रूचि बोली– अगर मैं उनकी ख़ुशी और सुख के लिए अपना स्वार्थ छोड़ दूँ और तुम थोड़ा अतिरिक्त परिश्रम करने के लिए राज़ी हो जाओ तो रास्ता निकल सकता है।

मैंने पूछा– तुम बात को घुमा कर मत कहो और सीधा सीधा बताओ कि कौन सा स्वार्थ और कैसा परिश्रम?

तब रूचि ने सीधी बात कही– मैं अपने निजी प्रयोग की वस्तु को साझा करने का स्वार्थ छोड़ कर तुम्हें मम्मी को यौन आनन्द एवं संतुष्टि प्रदान करने का अनुरोध करती हूँ। तुम्हें इस कार्य को करने के लिए कुछ अतिरिक्त परिश्रम करना पड़ेगा और मैं आशा करती हूँ कि मेरी ख़ुशी के लिए तुम इस कार्य में मुझे पूरा सहयोग दोगे।

मैं माहौल को थोड़ा हल्का करने के लिए बोला– रूचि तुम्हारी ख़ुशी के लिए तो मेरी जान भी हाज़िर है लेकिन मैं तुम्हारे अनुरोध का पालन नहीं कर सकता क्योंकि मुझे सिर्फ तुम्हारे आदेशों के अनुसार ही कार्य करने की आदत है।

मेरी बात सुन कर रूचि थोड़ी गौरवान्वित होते हुए हंसी और बोली– मेरे राजा ऐसा नहीं कहो और अब मज़ाक करना छोड़ कर मेरी बात ध्यान से सुनो, कल रात मैंने माँ से विस्तार से बात की थी, वे चाहती हैं कि आप की मर्ज़ी के सप्ताह में किसी भी दो दिनों और मेरी माहवारी वाले पाँचों दिन आप उनके साथ सम्भोग करके उन्हें आनन्द और संतुष्टि प्रदान करें।

यह कहानी भी पड़े  स्वाती की गांड थूक लगाकर चोदी

मैंने रूचि से पूछा– तुम क्या चाहती हो?
रूचि बोली– माँ की ख़ुशी के लिए हम जितना वह कह रही हैं उतना तो कर सकते हैं।
मैंने कहा– रूचि, अब मेरे लिए क्या आदेश है?

रूचि ने मेरे मुँह को चूमते हुए कहा– मैं चाहती हूँ कि कल तुम मम्मी को यौन आनन्द एवं संतुष्टि प्रदान कर दो। मैं मम्मी को इस बारे में बता दूंगी ताकि तुम्हें कोई असुविधा नहीं हो।’

इसके बाद हम दोनों एक दूसरे के बाहुपाश में लिपट कर सो गए।

अगला दिन शनिवार होने के कारण मेरी छुट्टी थी इसलिए मैं काफी देर तक सोता रहा और रूचि रोजाना के समय बुटीक चली गई।

लगभग ग्यारह बजे सासू माँ ने मुझे जगाने के लिए आवाज़ लगाई, लेकिन ना तो मैं उठा और ना ही मैंने उन्हें कोई उत्तर दिया।

तब सासू माँ मेरे पास आई और मेरे कन्धों को पकड़ कर हिलाते हुए कहा– मेरे प्यारे राजकुमार, काफी देर हो गई तुम्हें सोते हुए, ग्यारह बजने ही वाले हैं, अब उठ भी जाओ।

जब मैं नहीं हिला तब उन्होंने झुक कर मुझे चूमते हुए मेरे कान में कहा– उठ कर कुछ खा पी लोगे तभी शरीर में ताकत एवं फ़ूर्ति आ जायेगी और तभी तुम रूचि के आदेश का पालन कर पाओगे।

Pages: 1 2 3 4 5

error: Content is protected !!


Chudakkr sasur se samuhikहस्बैंड स्वैपिंग की चुदाई की कहानियाँ हिंदीसविता भाभी अशोक का इलाजchudaixxx marathi sexykahaneस्कूल गर्ल सेक्सपिकनिक me सामूहिक sexi chudai moovi hindi dounloding pornKhet Mein ghamasan Chudai man beta Hindi sex kahania to z sex hot story in hindi me phota ki sathपडोसन की लडकी चुदाने को राजीNokarani ki chudi hindiट्रेन में स्कूल गर्ल की चुदाईचोद चोद की फाड़ डाला कांड हिंदी च**** वीडियोwww antarvasnasexstories com chudai kahani aunty chud bhi jao na part 3चुदाई कहानी मुमबई की खोली मे बाप बेटी की चुदाईghar ki chudai mummy tantrik ke sathमैंने चुदवाई अपनी चूत tau ji seLarki ko kaha chune se sex karne ke liye taiyar ho jayengeबहि बहिन बुरसविता भाभी की सचित्र सेक्स कहानीनहींया वीडियो सैक्स साली जीजामाँ बेटी चूची चूसी hindisexkahaniyanघर में सलवार खोलकर पेशाब मुंह में करने की सेक्सी कहानियांAantarvasna. Com badi sali ki chudayiबुआ कि चुदाई पापा से होली मेSasur ne kapde faad ke chodaXn antrvasn waef store hindebhaiya ko jhalak dikhai incestगर्लफ्रेंड को चोदा कहानीhy ry jalim chudai astoriबाई.की.चुदाईसर्दी का बहाना बनाकर भाई ने चोदा"sasur antarvasnaहोली में चोदना सामूहिक घर मेंसेकसी कहानी बीबीने पैसे देकसेककिया daru pila kar bahen ki chudai kahani with phootoजबर्दस्ती सेक्स करें कि हिंदी स्टोरी गलियों वालीमँगला बीबी की चुत मारीहिंदी कामुक कहाणीXxxvideostorihindinepali bhabhi ki cudai ki kheta me sex kahaniभौजाई किवाड़ बंद नंगा चूतसाली की चुदाई कि सेक्सी कहानी बताएदेशी तामील चुदवानाantarwasna maa na di papa ku ghalWWW.XNXX वनने के नंवरwww antarvasnasexstories com bhai bahan bhola bhai chudakkad bahanSexy hindi sas damad samdhan samdhi group written kahani.comVidhwa ko poore jor se chodagunde ne jeberdasti choda hindi sex storyगाना बाला चुत बिडियोSakse kahane coda de ke hendemaचूत धक्का चीखShila ki chut pornXXX 44 साइज के चुतड़ की कहानीChudai karte karte duwa nikl geaantrvaasna bhabhi ke ब्रा penti mai khunMaa ki guda hindisexstoryपयासा बदन हिन्दी से कसि विडियो लड़की की छाडा किxxxदीदी को पहली बार देखा बिरा पर हिनदी मेlesbian sumi porn kahaniइंडियन मम्मी बेटा की chudae गाँव में कहानी हिन्दी मेंविधवा कि चुदाइबहन पापा से सामूहिक छुड़ाईचोदु परिवारनई सेक्स स्टोरी हिंदी ट्रैनaunty ke parlor me unke sath saheli ko bhi chodaट्रैन में पापा ने की चुदाईBeta ne mako coda ratko story writingTrain main nanad bhabhi ki chudaiसेक्स कहिय हिंदीचुदाई मालकिन की/maa-ne-meri-chut-ko-thanda-karaya/antarbsna ma or bhan ke gand balkneपापा ने कामवालि सलमा कि गांड sex storywwwxxxकहानीयाgf ki chut fadker bade land se rula rula ke chodaporn thakur ki haveli me sexstories in hindiचाची माँ और मे xxx storybeti ki chudao khaniyawww.मावशीच्या जबरदस्ती sax कथा .comrahar ke khet me chachi ki chudai kahanitantrik sex kaahaniyaबोबे दबाने के चुटकलेमाँ का इलाज हिन्दी सैक्स स्टोरीchodansexkahaniविधवा मैडम को चोदा