पति,पत्नी,सास ,ससुर की रासलीला

मैंने कहा, “ठीक है जैसी तेरी मर्जी, लेकिन देख लेना कंही कोइगर्गबर् नो पी”. नुपुर बोली, “आरी कोई गर्बर नही होगा, तेरा बप्तो हमे अपने आंख से रोज़ छोड़ रह है अब उसके लौरे से अपनी चूत्चोद्वंगी.”अगले दिन से नुपुर खूब सज धज कर रहने लगी और बाबुजी केसामने आते ही अपनी पल्लू गिरा कर उनको अपनी चुन्ची कि दिखानेलगी. बाबुजी भी नुपुर कि चुन्ची कि घुर घुर कर देखा कर्तेठे और हमारी आंख बचा कर अपनी लुंड को मसलते रहते थे. मैभी एह सब देख कर गरम होता था और सोचता रहता था कि कब मैं अपनी या सास कि छूट को अपने लुंड का पानी से नहालौंगा. इसी बिच,मेरे मामा के एन्हा से खबर आया कि मामी बीमार हैं तो माजी उन्हेदेखने के लिए दो दिन के लिए अपने भाई के चले गए.तब अगले दिन नुपुर मुझसे बोली, “आज मैं तेरे बाप का लुंड अपने चूत्मे दल्वंगी, तुम कमरे के बाहर से या खिरकी से देखना, लेकिंचिनता मत करना. माजी के आते ही मैं तुम्हे माजी कि छूट दिल्वादुन्गी और नही तो मेरी मा याने तेरे सास तो है ही.

मैं उनको तेरेसे चुदवाने के लिए पता लूँगा और वो अपने दामाद के लुंड से अप्निचूत चुदवाने के लिए टायर हो जाएंगी.” मैंने कहा “ठीक है आज्तुम बाबुजी से अपनी छूट कि खुजली मिटा लो मैं दो दिन बाद अपनी माकी छूट कि खुजली मितौंगा.” नुपुर एह सुन कर बहुत खुस हो गयी और मुझको अपनी बांहों मी भर कर खूब चुम्मा दिया और फिर झुक कर्मेरे लुंड को अपनी मुँह ले लिया.मैं भी मरे गर्म के खरे खरे हिनुपुर कि मुँह को छोड़ने लगा. थोरी देर के बाद मैं नुपुर कि मुँह कंदर खलास हो गया तो नुपुर मी सारा का सारा पानी पी गयी और्फिर हम से बोली, “है बहुत मज़ा आया, अब तुम जल्दी से मेरी चूत्य गंद अपने लुंड से छोड़ दो, मैं बहुत गरम हो गयी हूँ.” मैबोला, “गरम हो गयी हो तो जाकर बाबुजी का लुंड अपनी छूट मेपिलवा ले, बाबुजी तेरी छूट कि साड़ी मस्ती झर देंगे.” “आरे क्यों जल रहे हो, दो दिन बाद तुम भी अपनी मा या अपनी सास कि छूट किमास्ती अपने लौरे निकल देना, लेकिन फिलहाल तुम मेरी छूट कि मस्तीझार दो”, नुपुर ने मुझसे कहा. नुपुर कि एह सब बातें सुन सुन कर्मेरा लौरा खरा हो गया था इसलिए मैंने नुपुर को (जो कि पहले सही नंगी थी) बिस्टर पर लेटा कर उसके दोनो पैर अपने कन्धों पर्रख लिया और अपना लुंड का सुपर उसके छूट के मुँह पर लगा दिया.नुपुर अपने छूट पर लुंड का एहसास से ही अपनी कमर उचल कर गैप सेमेरा लुंड अपने छूट के अन्दर कर लिया और मुझसे बोलने लगी,

यह कहानी भी पड़े  गाव की भाभी की चुदाई

“क्योंतार्पा रहे हो, जल्दी से जोर जोर से धक्के मरो और मेरी छूट किमास्ती झर दो.” मैं भी नुपुर कि दोनो चुन्ची को पाकर कर नुपुरको जोर जोर से छोड़ने लगा. नुपुर भी अपनी कमर उचल उचल कर हमारे धक्को के जबाब दे रही थे और बर्बर रही थी, “है और्तेज, और तेज तेज छोडो मेरे रजा. आज तुम मेरा छूट अपने लुंड केधाक्के से फार डालो, कल से तुम्हे फर्ने के लिए अपने मा या सास किचूत मिलेगी तब उनको भी छोड़ छोड़ कर फरना. ओह! ओह! बहुत मज़ा रह है, ही! आज जब तुम मेरी छूट छोड़ छोड़ कर फार दल रहेहो कल तेरा बाप कया फरेगा, क्या मैं उनसे अपनी गंद फरुन्गी?”हमलोग ऐसे ही एक दुसरे को गली देते हुए अपनी चुदाई पूरी कि.अगले दिन माजी अपने भाई के घर कोई फुच्शन के होने वाघा सेचाली गयी. नुपुर नहाने के बाद कोई ब्लौसे या ब्रा नही पहनी,सिर्फ पेट्तिकोअत और साड़ी लप्पेट कर खाना बनने लगी. खाना बनाते समय नुपुर कि चूची पर से उसकी पल्लू हटने से उसकी चुन्ची सफ्सफ़ दिख रह था और उन चुन्ची को बाबुजी बारे घुर घुर कर देख्राहे थे. नुपुर ने खाना बना कर हमे और बाबुजी को खाना खाने केलिए बुलाया.

खाना परोसते समय नुपुर कि पल्लू हट जा रही थीऔर उसकी चुन्ची बाहर को अ रह था और उसको देख देख कर मेरमण खराब हो रह था और बाबुजी अपने लौरे को अपने धोती के उपेरसे खाभी कभी सहला रहे थे. मैं एह देख कर नुपुर के तरफ्देखा तो वो हंस परी. खाना खाने के बाद नुपुर ने दूध का गिलास्बबुजी के कमरे ले गयी, उस समय भी नुपुर कि चुंचे बाहर कोदिख रही थी. बाबुजी ने कहा, “नुपुर आज मैं एह दूध नहीपिऊंगा”. “क्यों?” नुपुर ने पूछा. “नही मैं आज दुसरी दूध पियोंगा”, बाबुजी ने कहा. “दूसरी दूध, मतलब?” तब बाबुजी नेकहा दूसरी दूध मतलब वह दूध जो मैं आज खाना खाते वक़्त देख्रह था और एह कह कर बाबुजी ने नुपुर कि चुन्चेओं को पाकर लिया.नुपुर तो एही चाहती थी मगर नखरा दिखा कर उसने बाबुजी सेकही “एह आप क्या कर रहें है? चोरी आपका लरका आ जाएगा.

यह कहानी भी पड़े  नाना ने अपने मोटे लंड से चोदकर मेरे यौवन को खिला दिया

“अरेअने दो लार्के को, मैं अज उसके सामने ही मैं तुम्हारी चुंची चोसुन्गौर फिर तुझे नंगी करके तेरी छूट मी अपना लुंड दल कर तेरिचूत चोदुन्गा” बाबूजी ने नुपुर से कहा. “नही बाबूजी चोरियेना, एहाप क्या कर रहें है, मैं आप कि बहु हूँ और आप मेरी चुन्चीमसल रहें है और कहा रहें है कि आप मुझको नंगी करके मेरिचूत अपना लुंड दल कर मुझे चोदेंगे” नुपुर ने बाबुजी से कही. तब बाबुजी ने नुपुर कि चुन्ची चोर कर उसको अपनी गूढ़ मी उठालिया और उसको बिस्टर पर दल दिया और एक हाथ से नुपुर कि सरेयूतारने लगेऔर और दुसरे हाथ से उसकी चुन्ची दबाने लगे. बबुजीनुपुर कि चुन्ची मसलते हुए कभी कभी उसकी घुंडी भी मसल्राहे थे और बोल रहे थे कि “है मेरी बहु, मैं कब से तुम्हारी इन्मास्त चुन्ची को मसलने के लिए तरस रह था, आज मेरा सपना पुराहुआ. अब आज मैं तुझे नही चोरुंगा,

Pages: 1 2 3 4 5 6

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!


चुदक्कड बुर कि कहानि ।www.antravasnasexkahani.comट्रेन में चुदाई कहानी मेरे परिवार की गैंगबैंग चुदाई देखीchuti.behen.ki.chut.fadadi.bhai.ne.kahaniहिंदी सेक्स स्टोरी माँ और नौकरानी और मेरा घरमाँ बेटी ननद भाभी की रंडी बनने वाली हिन्दी सेक्स कहानीnokarani bacha chaye xx kahanima ke sath suhagrat sexy Kahani rajsharma.comसदी के बाद में दीदी को सोते स्पर्म अंदर पेलाAntervsna hindi माँ की गान्ड मारीपति ने चुदाया बोस के समने चुत खोल केxxx storis bahoshi maporn panjabigalis sex chut imagesguda methun antarvasnamaa aur maa ki saheliyo ke sath yatra me maje liye story in Hindi story in Hindi मेरी चुदाईMamma ko choda masaj karke khaniबरसात में माँ को छोड़ा सेक्स स्टोरीमैंने धीरे से उसकी स्कर्टX kahani hindi chudai ka bus me safar karte samay bhid me.inएक बार पूरा घुसा दे लौडा कमिने कहानीantervasna moosii khet mcall boy ki dildo se gand mari storyचुतचुदाई.गानाdaru pila kar bahen ki chudai kahani with phootoछूट को कैसे सहलायेपजाबी लडकी ने बाबा दादी के गाँव जाकर गाँव के डेरी पर गाँव के एक लडके ने पजाबी लडकी की चूत चोदा अब्बा के साथ सुहागरात की कहानीतृप्ती दिदि सेक्स काहानिनसो की XXXकहानियाodia bhujo suhagrat storystories masuka ki gaand me pela६० साल की छिनाल चाची की गंदी गाड मारने की कहानीयादो लंड एक साथ कहानीसेक्सी हिंदी कहानीdipaliasadharan rishton me chudaiगुदा का चैकअप चुदाई की कहानीsagi didi sagi maa ki chudai ka video banakar and dikhakar chut mari sexstory hindiमधु कि बुय चोदाईमां ने पापा से सजा दिलाई Hindi Sex Story चाचि भाबि और बुअ कि चुदाई बष मेफौजी चाचा चाची चुतबीवी ने दिलाई बहु की बुर की चोदई की कहनीमाँ को नहाते देखा सेकसी कहानी हिन्दी में लिखिएMarathi मालिस sex कथाsax kahaniya maa ne thakur se chodayaचुदाई लड़की कामाँ बेटा राज शर्मा सेक्स स्टोरीजRajsharma hindi sex pesabआटि चुद दबाई रात मारीsamuhik magha sex hindi storyचुदाई में मिली संतुष्टि कहानीसुहागरात में सबने छोड़ाAntravasna maa paiso m mang ne sindoor sex storyBhanje ka beta kokh me sex storypapa ne dusari Sadi ki sexy Kahani rajsharma.commummy ko choda 12 inch ke land se porn story hindiहर रात नया लँड से चूत चुदाती हु मैSex ki kahani sasur se 6मेरी छोटी सी चूत मे जब उसका मोटा सा लंड घुसा तो मै बेहोश हो गईबहन की चूत लेने का मजामुसलिम कचची लङकी की चूतChut chatte smy muh me mutnasabrina ki chudai ki kahani part 2dada ke samne poti ki chudai kahanipharend sex kahani hindi meमामी के बेटे कि ओरत साथ सेकस काहानी पडने को बता ओmaa aur mausi xxx storyVithav anti kahani sexi माँ की चूत बजाऐ कहान