मेरी चाची बड़ी निकम्मी–2

चाची: “दाल..”

फूफा:”क्या दाल?”

चाची” “अर्रे.. चने की दाल”

फूफा: “अछा दाल..मे तो कुछ और ही समझ रहा था”

चाची: “आप तो हमेशा, कुछ और ही समझ लेते है” इतना बोलते हुए वहाँ से गुज़री तब तक फूफा ने उनकी कमर पर चींटी ले लेली और उनका हाथ पकड़ लिया.

चाची: “हाए राजेसजी..आप तो बड़े बेशरम हो..”

फूफा: “बेशरम बोलही दिया है तो बेशरम भी बन जाते है”

चाची: “राजेसजी.. मेरा हाथ छोड़िएना, कोई देख लेगा तो क्या कहेगा”

फूफा: “किसीकि मज़ाल जो हमे कुछ कहदे”

चाची: “छोड़िएना….”

फूफा: “एक शर्त पर..मैने बहुत दिनो से मालिश नही करवाया है, तुम्हे मेरी मालिश करनी होगी…और वैसे भी हमारी बीवी के पास वक़्त नही है”

चाची: “तो क्या आपने हमे बेकार समझ रखा है”

फूफा: “अर्रे नही आप तो बड़े काम की चीज़ है..पर प्लीज़ ज़रा मेरी मालिश करदो”

चाची: “अभी?..यहाँ?…नही नही रात को कर दूँगी”

फूफा: “अर्रे आपको को रात को कहाँ फ़ुर्सत मिलेगी…प्रकासजी छोड़ेगा ही नही”

चाची: “अर्रे ऐसी कोई बात नही..वैसे भी आज कल वो शादी के काम मे बहुत बिज़ी है”

फूफा: “अछा तो साले को टाइम नही है.. इतना बड़ा काम छोड़ कर बेकार के काम करता है”

चाची: “राजेसजी छोड़ दीजिए ना..देर हो रही है दीदी इंतज़ार कर रही होगी..मैने आपकी रात को ज़रूर मालिश कर्दुन्गि”

फूफा: “ठीक है छोड़ देता हूँ…पर रात को हम आपको इंतज़ार करेंगे”

चाची: “जी ज़रूर आउन्गि”

ये बोल कर चाची वान्हा से चली गयी पर मे सोच रहा था, चाचीने कभी चाचा की मालिश नही की और फूफा की मालिश के लिए हां बोल दिया, पता नही मेरे अंदर एक अजीब सी कुलबुलाहट हो रही मैने सोचा क्यूँ न आज फूफा पे नज़र रखी जाए.

गाओं मे लोग रात को जल्दी ही सो जाते है, रात के 8 बजे होंगे सब लोगोने खाना खा लिया था और सोने की तैयारी कर रहे थे. मैने देखा फूफा छत पर सोने जा रहे थे, छत पर सिर्फ़ छोटे बच्चे ही सोते थे, औरते घर मे और ज़्यादा तर मर्द लोग दालान मे ही सोते थे. फूफा ने टेरेस के एक कोने की तरफ अपना बिस्तर लगा दिया था, पर उन्हे नीद नही आ रही थी उन्होने अपने जेब से सिगरेट का पॅकेट निकाला और पीने लगे, मे और चाची का बड़ा बेटा विकाश उनके पास के बिस्तर पर ही सो रहे थे, फिर फूफा ने अपनी कमीज़ और पॅंट निकाली और लूँगी पहन ली. तकरीबन 1घंटे. के बाद मुझे किसी के आने की आहट सुनाई दी मैने तुरंत अपनी आँखे बंद करली और महसूस किया कि कोई हमारे पास खड़ा है, टेरेस पर लाइट नही थी पूरा अंधेरा था मैने धीरे से अपनी आँख खोली देखा चाची हमारे उपर चादर डाल रही थी, फिर चाची हमारे पास बैठ गयी और देखने लगी की हम सोए है की नही फिर कुछ देर मे वो उठी और फूफा के बिस्तर पास जा रही थी, चाची के हाथ मे एक तैल की सीसी थी, चाची फूफा के बिस्तर पर बैठ गयी और उन्हे जगाया.

यह कहानी भी पड़े  मौसी की तड़प ओर चूत की प्यास

फूफा: “अर्रे तुम आगाई..”

चाची: “हमे बुला कर खुद घोड़े बेच कर सो रहे हैं”

फूफा: “अर्रे नही मे तो आप का इंतज़ार कर रहा था..मुझे लगा आप नही आएँगी”

चाची: “कैसे नही आती..पहली बार तो आपने हम से कुछ माँगा है”

फूफा: “तो फिर सुरू हो जाओ”

फूफा उल्टा लेट गये और चाचीने सीसी से टेल निकाल कर अपने हाथों पर लिया और फूफा के पीठ (बॅक) पर लगाने लगी, फूफा ने कहा “कोमल्जी आपके हाथ बड़े मुलायम है”

चाची: “वैसे भी औरतों के हाथ मर्दो को मुलायम ही लगते है”

फूफा: “पर आप के हाथ की बात ही कुछ निराली है..आपके हाथो मे तो जादू है..प्रकाश बड़ा नसीब्वाला है”

चाची: “अब ज़्यादा तारीफ करने की कोई ज़रूरत नही”

फूफा: “ठीक है नही करता..लेकिन क्या रात भर आप मेरे पीठ की ही मालिश करोगी”

चाची: “तो घूम जाइए ना”

फूफा घूम गये और चाची उनके सीने और हाथ पर मालिश करने लगी, फूफा लगातार चाची को घूर रहे थे, चाची उन्हे देख कर शरमा गयी और चेहरा नीचे करके मालिश करने लगी. चाची के कोमल हाथ फूफा के पूरे सीने पर फिर रहे थे, फूफा भी थोड़े गरम हो गये थे उनका लंड काफ़ी तन गया था और लुगी भी थोड़ी सरक गयी थी, लंड का उभार शायद चाची ने भी देखा था पर वो चुप चाप फूफा की मालिश कर रही थी, तभी फूफा ने कहा “कोमल्जी ज़रा पैरो की भी मालिश कर दो” चाची बिना कुछ बोले उनके पैरों की मालिश करने लगी, कुछ देर बाद फूफा बोले “कोमल्जी जर उपर जाँघ (थाइस) की तरफ भी तैल लगा दो” चाची एक दम सहम गयी, थाइस पर कैसे हाथ रखती उनका अंडरवेयीर तो तना हुआ था पर चाची हिम्मत कर करके उनके थाइस पर मालिश करने लगी शायद चाची पहली बार की गैर मर्द के थाइस को छू रही, फूफा का लंड तो कपड़े फाड़ कर बाहर आने को तैयार था. थाइस पर मालिश करते समय चाची हाथ एक दो बार उनके अंडरवेर को छू गया था, जिससे फूफा और भी गरम हो गये थे. शायद चाची भी फूफा के पैर के घने बालो (हेर) का मज़ा ले रही थी, कुछ देर बाद फूफा ने चाची के थिग्स पर हाथ रख कर कहा “कोमल्जी ज़रा ज़ोर्से दबाइएना बड़ा अछा लग रहा है” चाची फूफा के हाथ को अपनी थाइस पर महसूस कर थी, चाची भी शायद कुछ हद तक गरम हो रही थी शायद शादी के दौरान उनका संभोग (सेक्स) चाचा से नही हुआ हो. फूफा फिर अपना हाथ उनके थाइस से हटा कर चाची की कमर पर प्यार से फिराने लगे, चाची बोली “गुदगुदी हो रही है”

यह कहानी भी पड़े  दोनों साली की सील तोड़ी एक ही रात में

Pages: 1 2 3 4

error: Content is protected !!


वीधवा आन्टी की चुदाई बडे लंन्ड से चुदाई कथाphupheri bahan xxx video hindi storiymomnew ki antarvasana in hindi kahaniyaबच्चों के लिए गैर मर्द के साथ चुद ाई की कहानियाँXxx rishto me chotaiगुलाबी गांड़phim sex chi em nha kieu 2016hinde.khane.bate.xxx.jabr.jasteSexkahanilesbianगाओं की तान्त्रिक छुड़ाई स्टोरीhot sex kahani pyar bhara pariwar me baleckmel kiyaचुदाई की बाते.बिस्तर मे safar me chhoti bachchi ki chudaixxx sex म्हातारी व्हिडीयोrajai me ghuskar aunti ki chudai ki satoriमजबूरी में बनी रखेल और चुदाईअम्मी ने भोसड़े में लंड लियाlrka lrke ak saht nahata huea sexमराठी सेक्स कथा बॉस कामवाली paw roti jesi chut K chudai hinde stomaa ki tarbuj jaisi chuchi hindi story .comसहेली के पति से होली पर चूदी मैबालकनी पर चुदाई कहानियाँ/mummy-mai-aadmi-wala-kam-karunga/4/nadi me chudaiDadA Lund W BHIKHARIN K Chut Hindi KAHANIbabhi sex ky maa story imagrसेक्सी माँ के चुड़ै शॉपिंग जीन्स टॉप ब्रा पंतय सेक्स स्टोरी2018 ka six antrvsna hand maकुतिया चोदनाउषा भाभी कि चुत मे लडमेरी चुत नही झेल पायेगीBadsurat aurat hindi sex storymammy ki chudai Ramesh me sathphimpim tvsexchut ko chiyar ke land ghusaya vidoeSaxc/vidio/nakrani/ki/chdaeantervasna dot comपडोसी लडकी X.X.X. STORRY.हिन्दी अंतरवसना सेक्सी फोटो कहानी सिस्टर जबरदस्त छोडा ब्लैक मेल कर मालिश माँ सेक्सी वीडियोसpapa samuhik gift budai kaकचची कली कि चुदाई विडियोकमसीन बुर की चोदई की सेकसी विडीओNaukarani ne seal tudwayi part 1aunty k tarbuj jese chuchiya sex kananiyabaju vali ki malkin x kahanididi ki thukai pe thukaiकपल ने थ्रीसम सेक्स का मज़ा लियाantervsna auntgao me huee pariwarik gand aur chut chudai khaniya.comma kamla ki gand ka dewana uska he beta bhabhi sexy storiesपापा से चुदवाया फार्म हाउस मेंदीदी पूरा लैंड नहीं ले पाऊँगी हिंदीbidhva kee seksee khanee hindee me likhyeकुछ भी कर के अब तो मुझे उस से चुदना ही था। मैं तरकीब सोचने लगी।taji romantik antarwasna sex stori hindima ko pairdaba ke choda kahaniAndhera khade 2 lund liya chupchap incestशादी में गैर महमान से चुदाईlamba mota land ka romantik xxxncomखेल -2 में माँ की चुदाईxxx tori ભાઈ એન didiसासुमा के चोदाjyoti ki chudaigauhati hindi chudai ke kahaniyaहिंदी सेक्स कहानी razia fans gai gundo मुझेwww antarvasnasexstories com chudai kahani do bahan threesome part 1nanad.ki.training.sex.kahani.raj.sharmamachudaikahaniप्यासी विधवा मौसी के चुदाई कथामाँ बेटी ननद भाभी की रंडी बनने वाली हिन्दी सेक्स कहानीlaedki or ghodae ki cudai saekxiमां मेरे बच्चे के जन्म दि हिन्दी सेक्स कहानीएक घर की चुदाई कहानी – 1 • Hindi Sex storo part 7मेरी अवैवाहिक सबंधchudasi auntiyan storypunjabi sexy kahaniamaine apni behan preeti ko khub maje se choda sex stories hindianterwaanawww.larki kd bobo me dud kese utpan hota haisas bani rakhel sex kahaniGnde.chude.sex.storySex stories. Behan ka gifthindisexkahaniyaसाली ने सलहज की चुत दिलाई