दीदी अब तक कुँवारी थी जब मैने उनकी सील तोड़ी

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम आदि है और में आज सभी को अपनी एक सच्ची घटना के बारे में बताने के लिए पर आया हूँ और में उम्मीद करता हूँ कि यह आप सभी को पसंद जरुर आएगी। दोस्तों यह बात करीब 6 महीने पहले की है। मेरी मौसी की लड़की जो मुझसे एक साल बड़ी है और वो मेरी मौसी के साथ हमारे घर आई हुई थी और मौसी ने हमारे घर आकर मेरी माँ से कहा कि यह अब करीब दो तीन महीने इधर ही रहेगी। तो माँ उनके पूछने लगी क्यों? तब मौसी ने कहा कि अरे मैंने तुझे बताया नहीं था क्या कि हमें अमरनाथ और उधर के सभी तीर्थ देखने है? तो माँ बोली कि अरे दीदी में तो बिल्कुल भूल ही गयी थी। तभी मैंने कहा कि माँ तुम जाओगी तो खाना कौन बनाएगा? भाभी भी भैया के साथ बाहर घूमने गये है और अब वो लोग भी दो महीने से पहले नहीं आएँगे। तो मौसी ने कहा कि तुम्हारी नीलू दीदी को खाना बनाने के लिए में इसे इसलिए तो यहाँ पर लाई हूँ। फिर मैंने कहा कि हाँ ठीक है।
फिर नीलू दीदी ने मुझसे पूछा कि तुम्हारी पढ़ाई कैसी चल रही है? मैंने कहा कि अच्छी चल रही है और फिर हम दोनों इधर उधर की बातें करने लगे। दोस्तों तब तक मेरे मन में उसके लिए कोई भी ग़लत बात नहीं थी, अगले दिन मेरी माँ और मौसी तीर्थ यात्रा पर निकल गये। अब घर पर सिर्फ़ हम दोनों ही थे पूरे दो तीन महीने के लिए। फिर माँ ने जाते हुए मुझसे कहा कि तुम कहीं जाओ तो शाम को जल्दी घर आना और तुम दोनों तुम्हारे साथ साथ घर का भी ध्यान रखना। तो मैंने कहा कि जी माँ और वो लोग चले गये। शाम को दीदी ने खाना बनाया और हम दोनों ने साथ में बैठकर खाना खाया और फिर में टीवी देखने बैठ गया। तभी नीलू दीदी एक गाउन पहनकर आई और उन्होंने मुझसे कहा कि हम दोनों एक ही कमरे में सोएंगे, मैंने कहा कि जी नीलू दीदी। तो नीलू दीदी बोली या तो तू मुझे दीदी बोल नहीं तो नीलू बोल, मैंने कहा कि हाँ ठीक है दीदी और वो मेरे कमरे में चली गयी और में कुछ देर बाद सभी दरवाज़े बंद करके अपने कमरे में चला आया।

फिर तभी नीलू दीदी मुझसे कहने लगी कि यहाँ तो बस एक ही बेड है, मैंने कहा हाँ तुम बेड के ऊपर सो जाओ, में नीचे सो जाता हूँ। फिर दीदी ने कहा कि नहीं तुम भी मेरे पास ऊपर ही सो जाओ, तब मैंने कहा कि हाँ ठीक है और फिर करीब 11 बजे तक हम दोनों सो चुके थे और रात को करीब एक बजे में बाथरूम के लिए उठकर गया और आकर सिरहाने रखा और पानी पीने लगा तभी मेरी नज़र नीलू दीदी पर पड़ी और उस समय उनके ऊपर की चादर नहीं थी और उनका वो गाउन उनकी जाँघो तक आ चुका था और हल्की लाइट की रोशनी में दीदी की गोरी भरी हुई जांघे बहुत ही चमक रही थी और वहीं मेरा दिमाग़ घूम गया, मैंने मन ही मन में कहा कि वाह क्या मस्त माल है, इसको तो एक बार चखना ही पड़ेगा और यह बात सोचकर में बेड पर बैठ गया और मैंने सोचा कि मुझे किसी भी काम में बिल्कुल भी जल्दीबाजी नहीं करनी है, क्योंकि मेरे पास अभी पूरे तीन महीने है क्योंकि धीरे धीरे आगे बढ़ने में बड़ा मज़ा आएगा और फिर मैंने उनका हल्का सा गाउन ऊपर उठाया और देखा तो नीलू की चूत उस समय पेंटी के अंदर थी, लेकिन वो थोड़ी सी फूली हुई थी कुछ बाल पेंटी से बाहर निकले हुए थे मैंने धीरे से चूत पर फूँक मारी और उसके बाद नीलू दीदी की चूत से लेकर पूरे बदन पर भी फूंक मारी, लेकिन वो तो मस्त गहरी नींद में सोई हुई थी, लेकिन अब मेरा हाल तो बहुत बुरा हो चुका था मेरा मन चाह रहा था कि में अभी उसको पूरा नंगा करके चोद दूँ, लेकिन मैंने सिर्फ़ उस फूँक से ही उसके पूरे बदन का जायजा ले लिया था और उसके बाद में उसके बारे में गंदी बातें सोचकर एक बार मुठ मारकर सो गया। फिर सुबह नीलू दीदी मुझसे पहले उठ गई, लेकिन में तो तब भी गहरी नींद में था तभी नीलू दीदी ने मुझे आवाज़ देकर कहा कि चलो उठ जाओ और उन्होंने मुझे अपने हाथ से हिलाकर उठा दिया, लेकिन जब में उठ गया तब भी रात का वो नजारा याद करके मेरा लंड दोबारा टाइट हो गया।

यह कहानी भी पड़े  बड़ी बेहेन मेरी बीवी बनी

फिर मैंने उनसे कहा कि तुम जाओ में अभी आता हूँ और जैसे ही वो मेरे कहते ही कमरे से बाहर चली गयी, में उसी समय तुरंत उठकर नहाने के लिए बाथरूम में चला गया और कुछ देर बाद में नहा धोकर तैयार हो गया और चाय पीने के लिए में रसोई में आ गया। तब मैंने देखा कि नीलू दीदी रोटी बना रही थी और नहाने से उसके बाल बहुत ही अच्छे लग रहे थे, वो पीछे से तो बहुत ही गजब की लग रही थी।
फिर कुछ देर नाश्ता करने के बाद में बाहर चला गया और जाने पहले मैंने दीदी से कहा कि में जल्दी आ जाऊंगा और शाम को करीब 7 बजे में वापस अपने घर आ गया और फिर रात को खाना खाकर आज हम दोनों जल्दी ही सोने चले गये और रात को करीब एक बजे में उठकर बेड पर बैठ गया। आज भी रात को पहले की तरह ही वो गाउन ऊपर उठा हुआ था, जिसको देखकर मेरा मन ख़ुशी से झूम उठा और आज फिर मैंने उस गाउन को थोड़ा सा ऊपर सरकाकर फूँक मारना चालू किया, लेकिन कुछ देर बाद मैंने मन ही मन में सोचा कि आज कुछ आगे बढ़ते है और यह बात सोचकर मैंने धीरे से अपना हाथ दीदी की चूत पर रख दिया और में उस अहसास से तो एकदम पागल हो गया। मैंने चूत को अपने हाथ से हल्के हल्के सहलाना शुरू किया और तब जाना कि वो चूत कितनी मुलायम थी और हल्के से मैंने उस पर अपना हाथ फिराया और देखा कि दीदी सोई है ना, लेकिन वो तो उस समय बहुत गहरी नींद में थी। अब में खुश होकर उठकर नीलू दीदी के पैरों में बैठ गया और मैंने अपना मुँह उसकी चूत पर पेंटी के ऊपर से रख दिया। शायद मेरी तेज गरम सांसो से उसको इस बात का अहसास हो गया और वो थोड़ा सा हिल गयी।
फिर में झट से उठा और अपनी जगह पर आ गया तो मेरा लंड तो अब भी खड़ा होकर बहुत तड़प रहा था और पेंट अंडरवियर तो अब मुझे और भी तकलीफ़ दे रही थी। फिर मैंने अपनी पेंट अंडरवियर दोनों को ही उतार दिया और अब में पूरा नंगा था और थोड़ी देर बाद एक बार फिर से में दीदी की चूत को सूंघने लगा। फिर मैंने देखा कि उनकी पेंटी चूत वाले हिस्से से गीली हो गई थी और वो चूत भी मुझे गरम लग रही थी और मेरी सांसो से भी ज़्यादा गरम थी। तब मैंने सोचा कि अब यह जाग चुकी है और यह सोने का बस नाटक कर रही है। अब मैंने थोड़ी सी हिम्मत करके मैंने अपनी एक उंगली को पेंटी के अंदर डाल दिया और उसके बाद थोड़ी सी ऊँगली को टेड़ी करके मैंने अब अपनी ऊँगली को चूत के अंदर डाल दिया। तब तक दीदी की चूत बहुत गीली हो चुकी थी और मैंने मन में सोचा कि अब यह गरम हो गयी है।
फिर मैंने अपना हाथ बाहर लिया और पेंटी को खींच दिया। पेंटी को उसके दोनों पैरों से बाहर निकाल दिया और जब मैंने उस चूत को पहली बार देखा तो में बिल्कुल पागल हो गया, लेकिन दीदी अभी भी सोने का नाटक कर रही थी और मेरा लंड तो एकदम बेकाबू हो गया था। फिर मैंने अब सोचा कि पहले अपने लंड की प्यास बुझाई जाए क्योंकि चूत भी बहुत गरम हो चुकी थी। मैंने अब धीरे से दीदी के दोनों पैरों को उनके घुटनों से मोड़ दिया, जिसकी वजह से अब मेरे सामने उनकी नंगी खुली हुई गीली चूत थी और आज में उसको जी भरकर चटना चाहता था, लेकिन मेरा लंड उसकी चुदाई करके उसमे झड़ने के लिए बहुत बेकरार था। फिर में दीदी के पैरों में बैठ गया और थोड़ा सा आगे झुककर मैंने अपना लंड दीदी की चूत के मुँह पर रख दिया और एक धक्का लगा दिया, लेकिन मेरा लंड निशाने से नीचे फिसल गया और मैंने एक बार फिर से अपने लंड को हाथ से पकड़कर सही जगह पर लगा दिया और फिर से मैंने दूसरा धक्का दे दिया, लेकिन वो एक बार फिर से फिसल गया।
दोस्तों दीदी की चूत अब तक कुँवारी थी और उनकी चूत का छेद छोटा और बहुत चिकना था, इसलिए बार बार ऐसा हो रहा था और अब मैंने अपने एक हाथ से दीदी की चूत को फैला दिया, लेकिन तभी दीदी के हाथ ने मेरे लंड को पकड़ा और चूत के मुहं में रख दिया। तब मुझे एकदम से धक्का लगा में बहुत चकित हुआ कि यह सब क्या हुआ? और फिर मैंने उस तरफ से अपने ध्यान को हटाकर एक ज़ोर का धक्का लगा दिया जिसकी वजह से मेरा लंड का टोपा चूत के अंदर गया। अब दीदी ने आईईईईइ ऊउईईईईई माँ यह क्या किया तूने? आज तक इसमे एक उंगली तक भी नहीं गई है प्लीज ज़रा ठीक से और धीरे करना मुझे बहुत दर्द हो रहा है।
INCEST LOVER उर्फ़ ” उमा शर्मा “कि”हसीन दास्तान”
फिर मैंने उनके मुहं से यह बात सुनकर मन ही मन बहुत खुश होकर उनसे कहा कि हाँ ठीक है दीदी में दर्द का पूरा ध्यान रखकर अपनी तरफ से पूरी कोशिश करके धीरे ही धक्के दूंगा। तो दीदी मुझसे बोली कि अब तू मुझे नीलू बोल और फिर मैंने अपना दूसरा धक्का भी लगा दिया, जिसकी वजह से मेरा आधा लंड बड़ी ही मुश्किल से अंदर गया था और अब दीदी दोबारा से चीखकर चिल्ला उठी ऊउईईईई माँ में मर गयी उफ्फ्फफ्फ्फ़ प्लीज तू अब इसको बाहर निकाल दे आह्ह्हह्ह बाहर निकाल ले तू फिर कभी करना, अभी बाहर निकल दे मुझे दर्द बहुत ज्यादा है इससे आज मेरी जान ही निकल जाएगी मुझे ऐसा लगता है। फिर मैंने कहा कि नहीं आप इसको कुछ देर ऐसे ही रहने दो अभी सब दर्द खत्म हो जाएगा और अब में उसके ऊपर लेट गया और तब मैंने उनके गाउन को पूरा उतारकर उनके बदन से अलग कर दिया और दीदी के भारी बूब्स को मैंने देखा और में उनको पागलों की तरह चूमने लगा, जिसकी वजह से थोड़ी देर में दीदी अब शांत होने लगी थी, शायद अब उसका दर्द कम हो गया था।

यह कहानी भी पड़े  दीदी को जीजा जी से छीना

Pages: 1 2 3

error: Content is protected !!


भैया मेरी चुत फट गई कहानी नंगे चूचे चूसनाladki ki kapde utarker kre seksisax.kahane.dost.mame.kedidi ko kosa bari me choda 2 hindi sex kahaniaruna ki gand chudai ki khhani hindi meबुर और लण्ड किप की कहानी हिन्दी मे लिख कर भेजnepali bhabhi ki cudai ki kheta me sex kahaniकामोन्माद चुदाईचुत चोदा मममी की मदद से घर मे चुदायीsasur ka bahu sexy bra ka gift ki kahaniतै जी की अंतर्वासनासेक्स विधवा दीदी की कहानीभाई की तेल मालीस गलती से लँड पकडादीदी के सत रुओं में छोड़ाए किये हिंदी सेक्स स्टोरीnaukar ko pany sunghte deka hindi sex storysex story ताई hindiपायल चुत चाटीbahu ki chudai storyमाकन मलकिन। के। चुत। चोदयMare seal pack chut s khun nekla sexy storie in hindihindu man nudeभाई मुझे अपनी रखेल बना लोphimpim tvsexमौसी को चोदने की इच्छाSex kahani Hamari bahan ki seal todi jabardastiseksi khaneeyatra me risto me hue chudai ka hindi storyantervasanasexstories.comसेकसी हिनदी नरस सेकसी फडxxx bur me laddalke chudns hinde dashiPandit or vidhva marathi sex kathaxxxxkaise kaise karte hainchodai jeth devar sasure seSex bare chuchi and chut or bare landनोनवेज भाभी कि चूतचुसाई कहानिया हिन्दी मेचाची ने सोना लेकर chudvayabehan bani frind ka gift gangbang sex storyरिया कीsex कहानीभाभी ने बुर दीखाया चुदाइ की कहानभाभी के बुर का स्वाद कहानीChoot ka jhrana antravasanaसहेली की छोटी बुर में मौसा का लंडआंतों की गांड कैसे माराDidi aapki gand bhut sexy h/piche-wali-anjali-didi-ki-chudai/डोली डोली दीदी की चूत मैं अंकल का लैंड कहानी हिंदी मेंछोटी बहा वर्जिन की चुदाईक्यों चोदू तुम्हे कहानीगरमा गरम मराठी सेक्स कथाDelvre ki chot se aane ki khneyawww.antervasanasexstory.comThakur ne beti ki gaand maari a sex storyrupali didi xxx storibday gift chut dost ki biwi ki storyjbrdsti sex stories bhu ssur moja part 4 hindi meआंटी ने माँ को चुदवायाबाप के साथ सुहागरात मनाईbhabhi ka doodh piyabadi saali ki chudaiमॉ की चुदाई बेटा videoचुत मे लंड फचा फचma or neye papa ke suhagrat sax storidivali मील didh की gand मारीantarvasna kahaniyaAah pelo na bhenchod desibees chudai storiloda ki holi sex kahnivillage sex story in hindihindi bilu video villeg jangaljyoti ki chudaiभाभी के बड़े बूब देखे साड़ी में गांव में antarvasnaचूत लढबीवी बनी वेस्या देसी कहानीपिछे से टच भाई बहन चुदाइ कहानिxxx sexy Hindi stories mammy beti Muslim abbuMarathi sex video Rula Diya Dardअन्तर्वासना सेक्सी सफर कहनिया ट्रैन मईकाली चुतHinde.sixey.store.commaa ki tarbuj jaisi chuchi hindi story .comShakira Hindi chudai bur ka Choda saal mein6fut ka damad अन्तर्वासनाBoy frend kee डिलडो से गाड मारी Antarvasna/bahan ki gaand trainki bheed me mariX.hindi sex stori shadu baba ke bade land se chudai bhabhi kiXxx sakse ertore hindi mawww.antervasanasexstory.comKirayedar aunty ki chudaiSixi.भाभी.कि.पुचिचे.फोटोxxx ki kahani lrkake sathबिबि ने बहेन से चुदायाचुत फटी दर्द हुआमूसलिम चुदाइचूदाईब्लूविधवा भाभी की चुदाई की कहानीwww.anjaneme risto me chudai hindi khaniSex vale vedio jesh me dono aek shath sex karte hoantarwasna bhai ne kiya rape