रंडी भाभी के कारण मुझे चुदाई नसीब हुई

मेरा नाम कोमल है और मैं चंडीगढ़ में रहती हूँ। मेरी उम्र इस वक़्त 32 साल है, अभी तक शादी नहीं हुई है। वजह है मेरा बेडोल मोटा शरीर, काला रंग और बेहद साधारण से नैन नक़्श। मतलब यह कि मुझमें ऐसी कोई भी बात नहीं जिससे कोई मेरी तरफ आकर्षित हो। इसी वजह से अब तक जितने भी लड़के मुझे देखने आए, सब मुझे रिजैक्ट करके चले गए।

घर में एक माँ है जो लकवा से पीड़ित है और पिछले कई सालों से बिस्तर पर ही है, उसकी सारी देखभाल मेरे ज़िम्मे है, एक भाई है जो टैक्सी चलाता है, एक भाभी है जो सच कहूँ तो एक परले दर्जे की लुच्ची औरत है, एक भतीजी है जो स्कूल में पढ़ती है।

भाई के अक्सर घर से बाहर रहने का फायदा भाभी अपनी मनमर्ज़ी करके उठाती है। मुझसे ठीक बोलती है पर मैं उसे दिल से पसंद नहीं करती।

बात है कई साल पहले की, पिताजी की मौत के बाद भाई ने टैक्सी संभाल ली। पिताजी की मौत के सदमे से माँ को लकवा मार गया। उस वक़्त भाई और भाभी की शादी को सिर्फ दो साल ही हुये थे। पिताजी के ज़िंदा रहते तो भाभी ठीक रही, पर जब भाई ने टैक्सी चलनी शुरू की और कई बार उसे रात को भी बाहर रहना पड़ता था तो भाभी ने अपना रंग दिखाना शुरू कर दिया।

जिस घर में हम रहते थे, वो एक बहुत बड़ी से पुरानी हवेली थी। जिसमें बहुत से कमरे थे और बहुत सारे किरायेदार थे, किसी के पास एक कमरा था तो किसी के पास दो। सब आपस में मिलजुल कर रहते थे, और कभी भी कोई भी किसी के भी घर आ जाता था।

अब भाभी गोरी चिट्टी, पतली लंबी और सुंदर थी, तो हमारे पड़ोस में ही सब उसके हुस्न के दीवाने थे, और ऊपर से भाभी का सब के साथ खूब खुल के हंसना-बोलना। तो भाभी को कोई ज़्यादा मेहनत नहीं करनी पड़ी और बहुत जल्द भाभी ने हर वो शख्स जो उसे अच्छा लगा उसकी मर्दानगी का स्वाद चख लिया।

यह कहानी भी पड़े  रंडी बीवी बायसेक्सुअल पति

हमारे पास दो कमरे थे, एक में भाई भाभी का बेडरूम कम ड्राईंग रूम था दूसरे छोटे कमरे में मेरा और माँ का बेडरूम कम स्टोर था। उसके आगे किचन और साथ में बाथरूम था। तो जब भी भाई की गैर मौजूदगी में भाभी रात को अपने किसी यार के साथ रात रंगीन कर रही होती तो उसकी आवाज़ें हमारे कमरे तक आती।

माँ अंदर ही अंदर बहू की बेहयाई पर कुढ़ती और मैं अपनी किस्मत पर, कि सब उसकी मार रहे हैं, मेरी तरफ कोई देखता भी नहीं। इतना ही नहीं मेरी क्लास में भी मेरी फ़्रेंड्स जैसे, किरण, सीमा, पुनीत सबके बॉय फ़्रेंड्स उनके साथ मज़े करते पर मेरी तरफ कोई नहीं देखता था। पुनीत की तो मैं चौकीदार थी, जब रिसेस्स में वो क्लासरूम में अपने यार के साथ हुस्न की बहारें लूटती तो मुझे गेट पर खड़ा करती ताकि किसी के आने पर मैं उन्हें खबर कर दूँ।

इसका इनाम मुझे यह मिलता के कभी कभी मुझे उसके बॉय फ्रेंड का लण्ड हाथ में पकड़ने या चूसने को मिल जाता। वो भी कभी कभी मेरे बूब्स दबा देता था। पर कोई सिर्फ मेरा हो ऐसा ना हो सका। पुनीत मेरे सामने अपनी स्कर्ट उठा कर अपने यार का लण्ड अपनी चूत में ले लेती और मैं उसे देखती और सिर्फ अपनी सलवार के ऊपर से ही अपनी चूत मसल के रह जाती।

स्कूल में सहेलियाँ और घर में भाभी का नंगापन देख कर मैं भी चाहती थी कि कोई मुझे जी भर के चोदे, पर मेरी शक्ल के कारण कोई मुझे नहीं देखता था।

यह कहानी भी पड़े  मामी ने मेरी मूठ मारी

माँ भी मेरा हाल समझती थी पर कर कुछ नहीं सकती थी। भाभी का तो यह हाल था कि रात को चुदने के बाद वो अक्सर नंगी ही सो जाती थी, सुबह जब मैं उसे उठाती तो अक्सर उसके बदन पर नोच-खसोट और पुरुष वीर्य के निशान देखती। भाभी को भी मेरे सामने नंगी होने से कोई फर्क नहीं पड़ता था। शायद वो यह जताना चाहती थी, कि देख मैं कितनी सुंदर हूँ और कितने लोग मुझ पर मरते हैं। मैंने कई बार भाभी से पूछा- भाई में क्या कमी है जो तुम औरों से भी ये सब करती हो?

तो वो कहती- कोई कमी नहीं, पर मुझे ज़्यादा चाहिए, मैं भरपूर संभोग सुख चाहती हूँ, जो सिर्फ तुम्हारा भाई नहीं दे सकता, वो मैं औरों से ले लेती हूँ। तेरा दिल करता है तो तू भी ले ले !

पर मैं क्या बताऊँ के मुझे तो कोई देखता भी नहीं।

फिर एक बार होली की बात है, जब मेरी किस्मत बदली। होली पर भाई के कुछ दोस्त होली खेलने हमारे घर आये, उनमें वीरू भी था। पतला, गोरा खूबसूरत नौजवान। उसे देखते ही मेरा दिल उस पर आ गया। सबने होली खेली इधर भाग, उधर भाग, घर की और सब मर्द औरतों और लड़के लड़कियों ने जम के होली खेली, पर मुझे सिर्फ लड़कियाँ ही रंग लगाने आई।

Pages: 1 2 3 4

error: Content is protected !!


छोड़ो भाई फाड् दो मेरी बुर कहानी हिंदी गलीsex story khe me vidhwa aurto ki gaand chudai barsat memaram chut ke chudayi kahaniबुर पैंटी कहानी गाँङ चाटेचीपकी चूत की सील कहानीस्तन मर्दन की कहानीchanda ki chut mari xxx satoriअंतरवासनाShadi ke baad kali se phool bani aur chut fat gyiteacher ne chodaचुतप मारते विडयोमाँ ने बहाने से ब्लू फिल्म दिखाकर गरम कियासफर मे चुदाई की अंतरवासनामाँ की चूत बजाऐ कहानपैदल चलते चलते दीदी को पेलाबडी माँ भानजे सेकस काहनीhAvili sax baba antrvasnaभाभी बोली अरे तुम चोदौXxx anti storysaya चुदाई के प्यासे भाई बहन की लम्बी कहानियां हिंदी मेंpapa bus me chusaya ratki sfar meसुहागरात की तरह चुदीशेकसि भाभि का दुधNana se chud gai train me hinde khaniपति ने चुदाया बोस के समने चुत खोल केjawanladkichootबहन को नचाकर चोदाppaiso ke liye. randi baniमेरी सहेली की मम्मी कि चुत चुदाई की दास्ता 2औरत की ब्रा और पैटीँ पर चुदाईBuva ke boor chuchi ka nanga photo kahani antervasna ठंडी रात को फूफा का लंड चूत लंड की कहानिया beta ne mom की kichin me चुदाई की कहानीmuslimsexykahanianbhabhi ko chudwayaठाकुर का खेत और उसकी बहु गंदी चुदाईगाँव की आँटी ने कहा निचे लेटा कर चुत मारxxx hende kahane gand ke chudae dono jinsTaiji k sath sex antarwashna तेरी बीवी की ब्रा उतार रहा हूं2019चुदहिनदि।शेकसि।भभि।के। चोद ई/usha-ki-sex-kahani-1-c/2/बहन चिलाती रही मै चोदता रहाBete ne khet me choda yum story/mummy-mai-aadmi-wala-kam-karunga/4/नविन नोकर मलकिन शेकशी काहणीXxx sveeta didi story in hindiपैँटी उतार कर चूदाई कर वाईरिश्तों में चुदाई सेक्स कथा राज शर्माघर मे लाग अपने परिबार मे चुदाई कय करते है storyLedies antrvasn.com storysxxxbabee pone nombermauseri behan ka badanMare seal pack chut s khun nekla sexy storie in hindimama bhanji sex storyआन लाइन हिनदी सेकसीबिडीयो बुरमाँ बेटा सेक्स स्टोरीलंड चुतblue film ki kahanihnimun pr suhagraat mnana antrvasna prbhabi ko choda godi benakr sexy story:mom ljkahaniKirayedar aunty ki chudaisasu maa ko boor chudwane ki kahanighar me barish ka paani aaya kapde bhige sex storeesdost ki ma fufa ko chodaGhar per bhuaaki chuddai videoxxx ki kahani lrkake sathचुदीअंकल सेChudiy kahaniy hindi sixe.comसेक्सी कहानी लग्न बहन कीरेल मे बेटे शे चुत मराईsole sal chut chudai sex vidiyohay re zalim rajsharmaXxxnnxxx मम्मी के सामने