बड़ी दीदी के साथ मज़े की बात

फिर दीदी कुछ देर बाद उठकर बाथरूम में चली गयी और फिर मैंने भी उनके चले जाने के बाद अपनी टीशर्ट और अंडरवियर को उतारकर में सिर्फ़ पेंट पहनकर पलंग के एक कोने में कंबल को अपने ऊपर खोलकर तकिए पर मैंने अपना सर रखा और में लेट गया। मेरे लेटने के कुछ देर बाद मेरी दीदी बाथरूम से वापस बाहर आ गई और वो पलंग के दूसरे हिस्से में अपने कूल्हों को तकिए से चिपकाकर बैठकर अपने बाल सवारने लगी, फिर मैंने अपना चेहरा दीदी की तरफ घुमाया तो अचानक मैंने देखा कि दीदी के पेटीकोट के नाड़े के नीचे पेट की तरफ जेब की तरह कुछ हिस्सा खुला हुआ था जिससे दिखाई दे रहा था कि दीदी ने अपनी पेंटी को निकाल दिया था और अब उनकी अंदर की गोरी चमड़ी पर थोड़े से लंबे काले बाल मुझे दिख रहे थे और फिर दीदी अपने पैरों को पलंग पर रखते हुए बोली क्यों बहुत ठंड है ना मेरू? और अपने आप को मेरी तरफ करके कंबल को साइड से ऊपर करके मेरी तरफ मुस्कुराकर दीदी ने अपनी एक जांघ को मेरी कमर पर रख दिया अपने एक हाथ को सीधा करके मेरे बदन के ऊपर रखा और अपना दूसरा हाथ बिल्कुल छोटा बच्चा समझकर मेरी कमर पर पकड़ बनाते हुए अपनी गरम गरम सांसो को मेरे चेहरे पर छोड़ते हुए उन्होंने अपनी दोनों आखों को बंद कर लिया। फिर मैंने महसूस किया कि उस समय नीलू दीदी की मोटी मोटी गरम जांघे मेरी जांघो से एकदम चिपकी हुई थी।

मेरे दोनों हाथ मेरी और दीदी की छाती के बीच दबे हुए थे और मेरा पेट दीदी के मुलायम पेट के साथ चिपका हुए था और मेरा मोटे आकार का लंड अब कड़क होकर दीदी के बदन को छू रहा था। अब मैंने अपने आप को एक बच्चे की तरह अपना एक हाथ ऊपर निकालकर अपनी उँगलियों को खोलकर नीलू दीदी के उभरे हुए बूब्स पर अपनी हल्की पकड़ बनाते हुए अपने चेहरे को दीदी के बूब्स पर रखकर अपने मोटे आकार के बिल्कुल कड़क लंड को दीदी की चूत के ऊपर सेट करके अपने आप को दीदी की तरफ धकेलते हुए में लेट गया और अब मेरे होंठ थोड़े से खुले हुए दीदी के बूब्स पर दब रहे थे और दीदी के गीले ब्लाउज का स्वाद मेरे मुहं में आ रहा था, जो मुझे धीरे धीरे बहुत गरम कर रहा था। अब मेरा लंड को दीदी के शरीर की गरमी उनके पेटीकोट के अंदर से महसूस हो रही थी और दीदी की मुलायम और गरम मोटी चूत अब मेरे लंड से पेटीकोट के अंदर से दब रही थी और अब मेरे लंड से बहुत सारा पानी निकल रहा था। फिर तभी अचानक से मेरे लंड को एक करंट सा लगा और में एकदम ठंडा होकर दीदी से चिपके हुए कब सो गया, मुझे इस बात का बिल्कुल भी पता नहीं चला।

यह कहानी भी पड़े  पापा ने मेरी बीवी को चोद दिया

फिर जब मेरी आंख खुली उस समय सुबह के 6 बज चुके थे और रूम के अंदर रोशनी भी आ चुकी थी। फिर मैंने अपने आप को दीदी की तरफ किया तो में क्या देख रहा हूँ कि अब दीदी का वो पेटीकोट उनकी कमर से ढीला होकर आधा नीचे सरककर उनकी गोरी जांघे और एक बड़ी सुंदर चूत को दिखा रहा था और हमारा वो कंबल कमर से नीचे चला गया था और दीदी इस बार मेरे बहुत करीब थी। में उनका यह नया रूप देखकर बहुत जोश में आ चुका था इसलिए मैंने जैसे ही अपना हाथ दीदी की नंगी चूत को छूते हुए सहलाता जा रहा था और मुझे यह सब करना बहुत अच्छा लग रहा था, क्योंकि यह मेरा पहला अनुभव था जिसके में पूरे पूरे मज़े अपनी सेक्सी दीदी के साथ लेना चाहता था कि तभी कुछ देर अचानक से दीदी ने अपनी आखें खोली और वो उठकर पलंग पर बैठ गयी। अब दीदी ने नीचे अपने पेटीकोट की तरफ देखा और वो उसको टाइट करती हुई पलंग से नीचे उतर गई।

फिर उसके बाद दीदी ने मेरी तरफ देखा, लेकिन मैंने अपनी दोनों आखें जानबूझ कर बंद कर ली। अब दीदी ने अपने बेग से टावल निकाल लिया और वो बाथरूम में चली गयी और फिर दीदी करीब 15 मिनट तक नहाने के बाद अपने बूब्स से जांघो तक उस टावल को अपने गोरे नंगे बदन से लपेटकर बाहर आ गई और उन्होंने मेरे पास आकर मुझे भी उठा दिया और वो मुझसे बोली कि मेरु चलो, अब जल्दी से उठो और बाथरूम में जाकर नहाकर बाहर आओ। तो में उनके कहने पर पलंग से उठ गया और तब मैंने बोला कि दीदी आप मुझे यह टावल तो दो, दीदी ने मुझसे कहा कि तुम पहले अंदर जाकर नहा लो उसके बाद तुम मुझे आवाज लगा देना, में इसको लेकर चली आउंगी। अब में उनकी बात को सुनकर उनसे हाँ कहते हुए सीधा बाथरूम में चला गया और मुझे बहुत अच्छी तरह से पता था कि अब दीदी अपने कपड़े पहनने वाली है इसलिए मैंने धीरे से बाथरूम का थोड़ा सा दरवाजा खोल दिया, जिसकी वजह से मुझे बाहर का वो सब नजारा दिखाई दे और तभी मैंने देखा कि अब नीलू दीदी बिल्कुल मेरे सामने टावल पहने पलंग के पास खड़ी हुई थी। उनको देखकर में बहुत अजीब सा महसूस कर रहा था जिसकी वजह से मेरा लंड भी अब अपना आकार बदलने लगा था और फिर मैंने दीदी को देखते हुए अपने तनकर खड़े लंड को अपने हाथ में पकड़ लिया। तभी दीदी ने धीरे से उस टावल को खोल दिया और उसको अपनी कमर पर बाँध लिया। फिर जैसे ही दीदी ने ऊपर से टावल को खोला तो उनके दो बड़े आकार और एकदम गोरे बूब्स जो थोड़े नीचे लटकते हुए बिल्कुल खुली हवा में दीदी की छाती पर झूल रहे थे और दीदी के भूरे कलर के निप्पल उनके पूरे बूब्स के ऊपर तने हुए खड़े थे। मैंने जब दीदी के निप्पल देखे में बहुत चकित हुआ क्योंकि इससे पहले मुझे उनके बूब्स और उनके इतने बड़े निप्पल होंगे मैंने कभी सोचा भी नहीं था। अब दीदी अपने एक छोटे से बेग से कोल्ड क्रीम निकालने के बाद वो उसको अपने चेहेरे और हाथों पर लगाने लगी और क्रीम लगाते समय दीदी के बड़े आकार के गहरे रंग के निप्पल थोड़े नीचे लटकते और उनके बूब्स नीचे झुकने की वजह से बड़े ज़ोर से हिलते हुए एक दूसरे से टकरा रहे थे जैसे वो एक दूसरे से लड़ाई कर रहे हो। अब मैंने यह सब देखकर जोश में आकर में अपने तनकर खड़े लंड को अपनी मुठ्ठी में पकड़कर मसलने लगा और धीरे धीरे हिलाने लगा। मुझे यह सब करने में बहुत मज़ा आ रहा था। फिर दीदी ने अपने बेग से एक काली कलर की ब्रा और गहरे हरे रंग का ब्लाउज बाहर निकालकर अपने बूब्स और छाती को उससे ढक लिया और उसके बाद दीदी ने अपनी कमर से उस टावल को हटाकर पलंग पर रख दिया और अब दीदी मेरे सामने सिर्फ़ अपने ब्लाउज में खड़ी थी।

यह कहानी भी पड़े  ताई की चुदाई

Pages: 1 2 3 4

error: Content is protected !!


दीदी की भरी हुई चूतबच्चों के लिए गैर मर्द के साथ चुद ाई की कहानियाँभाई ने छूट की ओपनिंग कीतेरी बीवी की ब्रा उतार रहा हूंdidi ne chodna sikhayahindi sex story maa behan parivar ki rangeen khelsasur and bahu xxxvidose comफार्म हाउस में जबरदस्ती दीदी की चूत फाड़ दियाअब्बा के साथ सुहागरात की कहानीmeri majburi me chodwai baitehavili saxbaba antarvasnadidi ki seal todiआंटी के गानों की आंटी की चूतtrean mom antarvasnarndi tayempas mo namrमाँ बरसात में चूदाईVidhwa Chut ki pyas nahi bhujiबूर छोडो मेरा मुझे प्रेग्नेंट कर दो सेक्स स्टोरी हिंदीचुतकी झलक Hindi sex storiesdidi ko kosa bari me choda 2 hindi sex kahaniबाई बहन की सेकसी कहानी या मजेदार हिदी मेउजलिभाभि चोदा चोदिअकेलिअन्तर्वासना नटखट भतीजाAslam ne mama banaya Chudai storyसेक्स स्टोरी अब्बू से मैंनेMaa ka chudaipan logo se antrwasnaरिशतोमे चुदायहिन्दी जोर दार चुदाई कि कहानीबडे बडे बूब वाली सगी बहन हिंदी चुदाई काहानीबीवी की चुदाई गैर मर्द से कराईKhalkhal.ma.chud.gaihum open minded hai chudai ke liyeantarvasna.riksawala na choda khat maरोज अपने भाई का लौड़ा चूसती हूँबहु की बुरा सास का भोसड की सेकसी कहानीsas dmad sxiy khaney gande galeसौतेला ससुर हिन्दी सेक्स स्टोरीbhaiya ne chodaSavita bhabhi chachera bhai milne aaya hindiThand me Didi ke ke chudai kahanixxx bur mejhat dehati ladkiपापा का तगड़ा लोडा sax storiesmasi ki chudayi mosa ke sammepriwar me chudhi sex storiesभाभी कि झांटे निकलकार चुदाईmerigandisexstoriSexbabanet.naukarदामाद से शादी करके गांड फड़वाईkanchan ki chudaibhai ko pati banayaneharani ki chudai storyजेठानी ने जेठ से मुझे चुदवाया६० साल की छिनाल चाची की गंदी गाड मारने की कहानीयाkamukta bus sufar sex storygrmi dene k bahane porn storysex story in hindi of grmardपहली बार भोस देखीPORN KAMVSNA TAL MALIS PANDIT TANTRIK SA HINDI GANDI CHODAI NEW KHANI MASTRAMDoktar.chudawi.kahaniशेकसि भाभि का दुधदीदी कि चुदाई6Antarvasna Sona incestmere stress ko brte ne mitaaya chudai storychotxxxkhaniअपने दोस्त की माँ को चोदाDasibees com.rajsarma sex stori choti suhagrathindi sex story sathi ke bad papa sechodaअंतरवासनाkamuta com xxx storeरोज तुझसे चुदवाऊँगी बुआ का चोदा पापा के साथ मिलकरSex story hindi सगी बहन की चुदाई की हवाई जहाज मेचुदाई की आदतलड़के से अपना दूध कैसे चुसवाए??सास को खूब चोदा मजे से चुदवाती है।saxy kahaniya hindi me bahan ke bra se pocha hindi jabarjadte scx kahaniशेकसी भाभी को जबरजशती चोदा लिख कर बताओमामा ने ममि को मा वनाया काहनीयासासु की मोठे लम्बे लड से जबरदस्त चुदाई कीxxxsuhagrat story writtअन्तर्वासना फेसबुक par didi ko chodaudaypur me vidhwa ma ko chodabuwa ki sil torne ki khaniHot bad masti ianden सुवागरातjawan ladaka ladaki ki havas bhari hardcore sex story's hindiबाब ने कि माँ कि चूदाईदेवर भाभी हिंदी सेक्सshachi kahani sex .combhen ki xoxip.khaniya with photosSex story hinde barik Dudh wale ko choda